समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं | समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

दोस्तों क्या आप भी सचिवालय में समीक्षा अधिकारी बनने के लिए पूरी मेहनत के साथ तैयारी कर रहे हैं और आपका भी सपना समीक्षा अधिकारी बनकर एक अच्छा पद प्राप्त करनें की है और आप समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानने के लिए इच्छुक है, तो आज आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हैं।

भारत में अधिकांश परिवारों के लोगों का मानना होता है, कि यदि उनके लड़कों को सरकारी नौकरी मिल जाती है, तो उसका जीवन सफल हो जाता है और इसलिए अपने माता-पिता के सपनों को पूरा करने के लिए बहुत सारे लड़के पूरी लगन के साथ पढ़ाई करते हैं और सरकारी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं, इसी में से एक नौकरी समीक्षा अधिकारी की हैं, इसके लिए भी बहुत सारे लड़के दिन रात तैयारी करते हैं और समीक्षा अधिकारी की नौकरी को प्राप्त करना चाहते हैं। 

लेकिन समीक्षा अधिकारी का पद प्राप्त करना इतना आसान नहीं होता है, इसके लिए आपको सही दिशा में तैयारी करने की आवश्यकता होती है और नए पाठ्यक्रम के अनुसार तैयारी करनी होती है।

किसी भी परीक्षा की तैयारी करने से पहले बच्चों के मन में एक चाहत होती है, कि वह जिस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, यदि वह उस परीक्षा को पास कर लेते हैं, तो उनको सरकार के द्वारा कौन-कौन सी सुविधाएं मिलेंगी।

इसी को ध्यान में रखकर आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं कौन सी हैं, लेकिन इससे पहले आपको यह जानना आवश्यक है, कि समीक्षा अधिकारी क्या होता है, तो आइए अब इस आर्टिकल की शुरुआत करते हैं।

समीक्षा अधिकारी क्या होता है? | समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं | समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

समीक्षा अधिकारी सरकारी विभागों और विभिन्न संगठनों में काम करने वाला व्यक्ति होता है, समीक्षा अधिकारी को RO (Review Officer) भी कहते हैं।

समीक्षा अधिकारी अपने विभाग में हो रहे सभी तरह के कार्यों की समीक्षा करता है और यह सुनिश्चित करता है कि सभी विभागों में निश्चित समय पर सभी काम पूरे हो जाए।

समीक्षा अधिकारी संगठन की भी निगरानी करता है और संगठन में काम करने वाले व्यक्तियों को अपनें काम के बारे में सूचना देता है।

समीक्षा अधिकारी राज्य सरकार के अंतर्गत काम करते हैं और वो कई तरह के विभागों जैसे राजस्व विभाग, कृषि विभाग, वन विभाग जैसे कार्यालयों में समीक्षा अधिकारी के पद पर कार्य करते हैं।

समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं

समीक्षा अधिकारी एक बहुत बड़ा पद है, जिसके लिए बहुत सारे छात्र दिन रात मेहनत करते हैं, लेकिन इस पद पर पहुंच नहीं पाते हैं, लेकिन जो छात्र पुरी मेहनत के साथ पढ़ाई करते हैं, वह ना सिर्फ इस पद पर पहुंचते हैं, बल्कि समीक्षा अधिकारी बनकर सरकार द्वारा मिलने वाली सारी सुविधाओं का लाभ उठाते हैं, तो आइए अब जानते हैं, कि समीक्षा अधिकारी को मुख्य रूप से कौन-कौन सी सुविधाएं मिलती है।

आवास की सुविधा: 

समीक्षा अधिकारी को 3 कमरें का एक आवास मिलता है, जो उनके सचिवालय के बहुत पास में ही होता है।

छुट्टी की सुविधा: 

समीक्षा अधिकारी को सप्ताह में 2 दिन शनिवार और रविवार को छुट्टी मिलती है।

एक ही स्थान पर काम करने की सुविधा: 

समीक्षा अधिकारी का ट्रांसफर नहीं किया जाता है, आप जिस भी कार्यालय में काम कर रहे हैं, आपको उसी कार्यालय में पूरें जीवन काम करना है।

ऑफिस से काम करने की सुविधा: 

समीक्षा अधिकारी के काम को आप अपने आॅफिस से़ ही कर सकते हैं, इसके लिए आपको ऑफिस से बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

तकनीकी संसाधनों की सुविधा: 

समीक्षा अधिकारी को बहुत सारे तकनीकी संसाधनों की सुविधा मिलती है, जिसकी सहायता से वह अपने कार्यालय में होने वाले कार्यों की निगरानी करते हैं।

प्रशिक्षण की सुविधा:

समीक्षा अधिकारी को नए – नए कानून और नियमों की जानकारी देने के लिए प्रशिक्षण की भी सुविधा मिलती है।

संगठन और संचालन की सुविधा:

समीक्षा अधिकारी को संगठन और संचालन के लिए भी बहुत सारी सुविधाएं मिलती है, इसके लिए आपको फ्लैक्स प्रिंटिंग, कंप्यूटर मशीन आदि चीजें मिलतीं है।

बेस्ट एजुकेशनल ऐप्स:

समीक्षा अधिकारी का कार्य क्या होता है?

समीक्षा अधिकारी किसी भी सरकारी या गैर सरकारी विभागों में कार्य कर सकता है और वह उन विभागों में होने वाले कार्यों की समीक्षा कर सकता है। समीक्षा अधिकारी के कुछ प्रमुख कार्य भी है, आइए अब इसके कुछ प्रमुख कार्यों के बारे में जानते हैं।

संस्थाओं के कार्यों की समीक्षा: 

समीक्षा अधिकारी अपने संस्था में हो रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए अपने कर्मचारियों को समय पर कार्य पूरा करने में मदद करते हैं और और जरूरत पड़ने पर उन्हें सलाह भी प्रदान करते हैं।

लेखा संबंधी कार्य:

समीक्षा अधिकारी लेखा संबंधी कार्यों के माध्यम से अपनें संस्थानों में हो रहे खर्च के ब्योरे की भी निगरानी करतें हैं। समीक्षा अधिकारी खर्च के विवरण को तैयार करके मुख्य सचिव के पास भेजते हैं और मुख्य सचिव उस रिपोर्ट की समीक्षा करते हैं और इसकी जानकारी राज्य सरकार को मुहैया करवाते हैं।

रिपोर्ट तैयार करना: 

समीक्षा अधिकारी ऑफिस में हो रहे कार्यों पर एक रिपोर्ट तैयार करके सचिव तथा अपर मुख्य सचिव को देते हैं, जिससे सचिव को कार्यालय में होने वाले कार्य की जानकारी मिलती है।

किसी भी पत्र पर टिप्पणी करना:

जब भी कोई व्यक्ति किसी परियोजना अथवा विकास से संबंधित पत्र भेजता है, तो वह पत्र को अपनी भाषा में लिखा होता है, लेकिन बाद में समीक्षा अधिकारी उस पत्र की समीक्षा करते हैं और उसको शासन की भाषा में लिखते हैं और फिर उसे सचिव और मुख्य सचिव के बाद भेजते हैं।

समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन कैसे होता है?

समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन उनके कार्यों पर निर्भर करता है, समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन SS (विशेष सचिव) तक हो सकता है।

नीचे हमनें एक लिस्ट दीं है, जिसमें आपको पता बताया हैं, कि समीक्षा अधिकारी से आपका प्रमोशन कितने सालों में और किन पदों पर हो सकता है।

  • समीक्षा अधिकारी (Review officer) 
  • अनुभाग अधिकारी (Section officer) 
  • अनु सचिव (Under secretary)
  • उप सचिव (Deputy secretary)
  • संयुक्त सचिव (Joint secretary)
  • विशेष सचिव (Special secretary)

समीक्षा अधिकारी से अनुभाग अधिकारी का प्रमोशन होने पर सबसे अधिक 8 से 10 साल लगते हैं, उसके बाद आप अनु सचिव के पद पर 3 से 5 साल के अंदर पहुंच सकते हैं।

उसके बाद 2 से 4 साल के अंदर आपका प्रमोशन उप सचिव के पद पर हो सकता है और 2 से 4 साल के अंदर ही आपका प्रमोशन संयुक्त सचिव के पद पर भी हो सकता है, इसके बाद आप 4 से 5 साल के अंदर विशेष सचिव के पद पर भी पहुंच सकते हैं। सचिवालय में सबसे बड़ा पद विशेष सचिव का ही होता है।

महत्वपूर्ण बिंदु: यदि आप 25 साल की उम्र में समीक्षा अधिकारी बन जाते हैं, तो ही आप विशेष सचिव के पद पर पहुंच सकते हैं अन्यथा विशेष सचिव के पद पर पहुंचना बहुत ही मुश्किल काम है।

समीक्षा अधिकारी का सिलेबस क्या होता है?

समीक्षा अधिकारी की परीक्षा दो चरणों में होती है।

  1. प्रारंभिक परीक्षा (200 नंबर)
  2. मुख्य परीक्षा (400 नंबर)

प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर आपको देने पड़ते हैं।

प्रारंभिक परीक्षा कुल प्रश्न 
सामान्य अध्ययन 140 प्रश्न
सामान्य हिंदी 60 प्रश्न 

सामान्य अध्ययन में किन विषयों में से कितने प्रश्न पूछें जा सकते हैं, इसकी पूरी लिस्ट हमनें नीचें दी हुई है।

सामान्य अध्ययनप्रश्न पूछे जाने की संख्या
भारतीय इतिहास 22
भारत तथा विश्व का भूगोल 11
भारतीय संविधान 7
भारतीय अर्थव्यवस्था कृषि व्यापार वाणिज्य 6
करंट अफेयर्स 24
जनसंख्या पर्यावरण17
विज्ञान 21
तर्कशक्ति 15

जैसा कि हमने ऊपर के चार्ट में आपको बताया, कि किन विषयों में से कितना प्रश्न आ सकता हैं, अब हम आपको एक चार्ट के माध्यम से बताएंगे, कि आपको इन विषयों में से किन टॉपिक को सबसे अधिक पढ़ना है।

विषय प्रमुख विषय
इतिहासधार्मिक आंदोलन, राष्ट्रीय आंदोलन 
विषयप्रमुख विषय 
भूगोलप्राकृतिक संसाधन, खनिज, शक्ति संसाधन, उद्योग
विषय प्रमुख विषय
भारतीय संविधान मौलिक अधिकार, मौलिक कर्तव्य, स्थानीय संसाधन
विषय प्रमुख विषय 
विज्ञान जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान
विषय प्रमुख विषय 
भारतीय अर्थव्यवस्था व्यापार, कृषि, पशुपालन, मौद्रिक नीति, आर्थिक नीति, पंचवर्षीय योजना

प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद आपको मुख्य परीक्षा देनी होती है। मुख्य परीक्षा की सारी डिटेल हमनें नीचें लिस्ट में दी हुई है।

मुख्य परीक्षा पूछे जाने वाले प्रश्नों का नंबर
सामान्य अध्ययन 120 नंबर 
निबंध (3)120 नंबर 
सामान्य हिंदी 160 नंबर 

सामान्य हिंदी में आपसे एक गद्यांश पूछा जाएगा, जो 21 नंबर का होगा, उसमें आपको शीर्षक, सारांश और तीन अंशों का व्याख्या करना होगा।

उसके बाद आपको शासकीय पत्र, कार्यालय आदेश परिपत्र, विज्ञप्ति टिप्पणियां परिपत्र पर पत्र लिखना होगा। इसके बाद आपको परिभाषिक शब्दावली जैसे हिंदी से अंग्रेंजीं में बदलना, अंग्रेंजीं से हिंदी में बदलना, मुहावरे एवं लोकोक्तियां इस तरह से प्रश्नों को हल करना होगा।

इसके बाद आपको निबंध में साहित्य एवं संस्कृति, सामाजिक क्षेत्र, राजनीतिक क्षेत्र, प्राकृतिक आपदाएं, राष्ट्रीय विकास योजनाएं इन सारे विषयों पर पत्र लिखना होगा।

FAQs – समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

इसे भी पढ़े: 

#1. समीक्षा अधिकारी में कितने पेपर होते हैं?

समीक्षा अधिकारी में कुल 2 पेपर होते हैं, प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा। जब आप प्रारंभिक परीक्षा पास कर लेंगे, तों उसके बाद आप मुख्य परीक्षा में भाग ले पाएंगे।

#2. समीक्षा अधिकारी की तैयारी कैसे करें?

समीक्षा अधिकारी की तैयारी करने के लिए आप पिछले साल के प्रश्न पत्र को पढ़ सकते हैं, इसके अलावा आप एनसीईआरटी की बुक्स को भी पढ़ सकते हैं, जिससे आप अच्छे ढंग से तैयारी कर सकते हैं।

#3. समीक्षा अधिकारी का पेपर कैसे आता है?

समीक्षा अधिकारी में सामान्य हिंदी का पेपर ऑब्जेक्टिव होता है, जो 120 नंबर का होता है और उसके बाद आपको 90 नंबर का निबंध लिखने के लिए आता है तथा पत्र लेखन के लिए भी आपको 120 नंबर मिलते हैं।

#4. समीक्षा अधिकारी में कौन कौन से पद होते हैं?

समीक्षा अधिकारी में कुल 7 पद होते हैं, जिसमें से सबसे छोटा पद सहायक समीक्षा अधिकारी का होता है और सबसे बड़ा पद विशेष सचिव का होता है।

निष्कर्ष – समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया, की समीक्षा अधिकारी क्या होता है और समीक्षा अधिकारी बनने पर आपको कितने प्रकार से सुविधाएं मिलेंगी।

इसके अलावा हमने इस आर्टिकल में बताया, कि समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन कब होता है तथा समीक्षा अधिकारी में कुल कितने पद होते हैं, इसके बाद हमने इस आर्टिकल में आपको समीक्षा अधिकारी का पूरा सिलेबस बताया हैं, जिससें आप अच्छे ढंग से तैयारी कर सकते हैं और उन प्रश्नों पर आप अधिक फोकस कर सकते हैं, जिस टॉपिक में से सबसे अधिक प्रश्न आएंगे।

आशा करते हैं, आपको यह आर्टिकल पढ़कर समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी।

2 thoughts on “समीक्षा अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं | समीक्षा अधिकारी कौन होता है?”

Leave a Comment