कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस कैसे मिलेगा? 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस कैसे मिलेगा?

वैसे तो इंडिया में रहकर आप अगर छोटी-मोटी कपड़े की दुकान खोलना चाहते हैं, तो बिना किसी लाइसेंस के भी कर सकते हैं।

लेकिन अगर आपके पास अपनी दुकान का लाइसेंस रहेगा, तो इससे आपके व्यवसाय करने में आगे भविष्य में किसी भी प्रकार का समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा!

इसलिए यह जरूरी है कि अगर आप कपड़े की दुकान को बड़े लेवल पर चलना चाहते हैं तो उसके लिए आवश्यक लाइसेंस जरूर बनवा ले, हालांकि आपमें से कई सारे लोगों के मन में किसी से संबंधित सवाल होंगे, इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको यह बताएंगे कि कपड़े की दुकान के लिए कौन-कौन सा लाइसेंस बनवाना पड़ेगा?

क्या कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस लेना पड़ेगा? 

कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस कैसे मिलेगा?

हो सकता है कि आपका मन में यह सवाल आ जाए कि क्या आपके लिए कपड़े की दुकान हेतु लाइसेंस बनवाना आवश्यक है? 

इसलिए आपके इस प्रश्न का जवाब देना हमारे लिए आवश्यक है, दरअसल आपको अपनी दुकान के लिए लाइसेंस बनवाने हेतु सबसे पहले यह जान लेना चाहिए कि क्या आपकी दुकान “दुकान और स्थापना अधिनियम” के अंतर्गत आता है।

दुकान और स्थापना अधिनियम के अंतर्गत किसी भी ऐसे स्थान को दुकान के रूप में परिभाषित किया गया है, जहां पर कोई विक्रेता किसी आइटम को थोक अथवा रिटेल में बेचता है, उदाहरण के तौर पर स्टोर रूम, कार्यालय, गोदाम, वर्कहाउस आदि।

आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए की दुकान के अंतर्गत व्यावसायिक प्रतिष्ठान अथवा कोई कारखाना नहीं आता है।

इतना जानने के पश्चात आप समझ चुके होंगे कि अगर आपको अपने कपड़े की दुकान को लीगल रूप देना है, तो आपके लिए अपनी कपड़े की दुकान का लाइसेंस बनवाना आवश्यक है, आगे हम आपको बताएंगे कि आप कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस कैसे बनवा सकते हैं।

कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस कैसे बनवाएं? 

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हम जब भी कोई नया बिजनेस शुरू करते हैं, तो हमें उसे लीगल रूप देने के लिए उसका लाइसेंस लेना आवश्यक होता है, ताकि भविष्य में आपका बिजनेस पर किसी प्रकार की कानूनी समस्या ना हो और यह ग्राहकों के बीच आपके व्यवसाय की विश्वसनीयता को भी बढ़ाता है।

इसलिए अगर आप कपड़े की दुकान खोलने जा रहे हैं तो सबसे पहले आपको उसका लाइसेंस बनवा लेना चाहिए।

कपड़े की दुकान खोलने के लिए आपको कुछ मुख्य लाइसेंस बनवाने पड़ेंगे, जिसमें सबसे पहले है जीएसटी लाइसेंस, क्योंकि भारत सरकार के द्वारा जीएसटी लाइसेंस को सभी व्यवसाय के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।

जीएसटी लाइसेंस बनवाने के साथ-साथ आपको अपने व्यवसाय के लिए ट्रेड लाइसेंस की प्राप्त करना चाहिए, और अगर आप कपड़े का व्यवसाय बड़े स्तर पर करना चाहते हैं, तो आपको अपनी दुकान के लिए TIN Number प्राप्त करना चाहिए।

चलिए अब हम आपको यह बताते हैं कि भारत में रिटेल शॉप खोलने के लिए कौन-कौन से लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है, यह सभी लाइसेंस आपके कपड़े की दुकान के लिए भी आवश्यक हो सकते हैं।

कपड़े की दुकान खोलने के लिए आवश्यक लाइसेंस और परमिट 

भारत में दुकान खोलने के लिए आवश्यक लाइसेंस और परमिट 

यहां पर नीचे आप टेबल में देख सकते हैं कि भारत में रिटेल शॉप खोलने के लिए कौन-कौन से आवश्यक लाइसेंस और परमिट की आवश्यकता पड़ती है, आगे हम आपको इनके बारे में विस्तार से जानकारी बताएंगे।

क्र.सं.भारत में खुदरा दुकानें खोलने के लिए आवश्यक लाइसेंस और परमिट
1.स्थायी खाता संख्या
2.कर खाता संख्या
3.व्यापार लाइसेंस
4.दुकानें और स्थापना पंजीकरण
5.व्यावसायिक कर पंजीकरण
6.कब्जे का प्रमाण पत्र
7.उद्योग-विशिष्ट परमिट और लाइसेंस

स्थायी खाता संख्या (PAN Number) 

PAN Number के बारे में तो आप सभी को जानकारी होगी, फिर भी अगर आपको नहीं पता है तो आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि यह 10 अंकों का एक यूनिक अल्फान्यूमैरिक कोड है, जो भारत में आयकर विभाग के द्वारा सभी व्यक्तिगत और गैर व्यक्तिगत करदाता संस्थाओं को सौंपा जाता है, यह पहचान के प्रमाण के रूप में भी कार्य करता है और बैंक खाता खोलने, टैक्स रजिस्ट्रेशन, आयकर और जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के लिए विभिन्न व्यवसायों को पैन कार्ड की आवश्यकता होती है।

चूंकि आपके व्यवसायिक पैन कार्ड की मदद से आयकर विभाग आपके व्यवसायिक लेनदेन और बैंक अकाउंट की गतिविधियों तथा Tax Compliance को ट्रैक करता है और इसीलिए 1961 के आयकर अधिनियम में पैन कार्ड को व्यवसाय के लिए अनिवार्य कर दिया गया था।

करदाता खाता संख्या (TAN) 

करदाता खाता संख्या (TAN) भारत सरकार के आयकर विभाग द्वारा जारी किया जाता है और यह 10 अंकों का एक विशिष्ट अल्फान्यूमैरिक कोड है। आपको करदाटा खाता संख्या की आवश्यकता तब पड़ सकती है, जब आप अपनी व्यवसाय में कर्मचारी अथवा अपने व्यवसाय को सर्विस प्रदान करने वाले किसी अन्य संस्थान के स्रोत गतिविधि पर कर कटौती में शामिल होते हैं।

व्यापार लाइसेंस (Trade License) 

किसी व्यवसाय के लिए ट्रेड लाइसेंस भी काफी आवश्यक माना जाता है और इसे नगर निगम अथवा राज्य सरकार के द्वारा नए स्थापित किए गए बिजनेस को उसकी लिमिट के भीतर परिचालन के लिए जारी किया जाता है। ट्रेड लाइसेंस किसी भी व्यवसाय को लाइसेंस आवेदन में उल्लिखित किसी निश्चित स्थान पर कोई विशेष व्यावसायिक गतिविधि करने की अनुमति प्रदान करता है।

ट्रेड लाइसेंस को अलग-अलग कैटेगरी के अनुसार वर्गीकृत किया गया है, उदाहरण के लिए इंडस्ट्रियल व्यवसाय के लिए इंडस्ट्रियल ट्रेड लाइसेंस, रिटेल शॉप के लिए खुदरा व्यापार लाइसेंस और खाद्य प्रतिष्ठान लाइसेंस आदि शामिल हैं।

आपको इस बात का ध्यान रखना है कि एक बार ट्रेड लाइसेंस जारी होने पर पश्चात इसकी वैधता 1 वर्ष के लिए होती है और उसके पश्चात आपको इस नवीनीकृत करवाने की आवश्यकता पड़ती है। यह भी ध्यान रखें कि ट्रेड लाइसेंस का नवीनीकरण करने के लिए आपको इसकी समाप्ति से 30 दिनों के भीतर आवेदन जमा करना पड़े और यह जनवरी महीने में ही होता है।

ट्रेड लाइसेंस पाने के लिए महत्वपूर्ण बातें: 

इस बात का ध्यान रखें कि एक दुकानदार अथवा दुकान के मालिक के रूप में आप ट्रेड लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए आपकी आयु 18 वर्ष अथवा इससे अधिक होनी चाहिए और इसी के साथ आपका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए तथा आप अपनी दुकान कानूनी व्यवसाय के अंतर्गत चल रहे होने चाहिए।

आपको यह लाइसेंस प्राप्त करने के लिए दुकान के संचालन शुरू होने से 30 दिन पहले राज्य सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर ट्रेड लाइसेंस के लिए आवेदन जमा करना होगा, अथवा आप सीधे नगर निगम के कार्यालय में ट्रेड लाइसेंस के लिए आवेदन जमा कर सकते हैं।

आवेदन जमा करने के पश्चात आपको आवेदन की तारीख से 7 से 10 दिनों के भीतर ट्रेड लाइसेंस मिल सकता है।

ट्रेड लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज की आवश्यकता पड़ती है। 

  • बिजनेस पैन कार्ड
  • व्यवसाय निगमन प्रमाणपत्र
  • आधार कार्ड, यदि आवेदक एक व्यक्ति है
  • नगर पालिका से संपत्ति कर भुगतान रसीद
  • संपत्ति के मालिक के साथ लीज एग्रीमेंट
  • जहां दुकान स्थित है उस परिसर में पड़ोसियों से अनापत्ति प्रमाण पत्र
  • संपत्ति का लेआउट
  • अधिभोग प्रमाण पत्र
  • ऋण स्वीकृति दस्तावेज

दुकान और स्थापना पंजीकरण 

अगर आपकी दुकान पर आप फुल टाइम अथवा पार्ट टाइम या फिर ठेके पर कर्मचारियों को रखते हैं, तो आपको दुकान और प्रतिष्ठा अधिनियम के तहत स्थापना पंजीकरण लाइसेंस आवश्यक है।

व्यावसायिक कर पंजीकरण 

आपको हम व्यवसायिक कर के बारे में जानकारी दे दे, यह कर अक्सर कर्मचारी की योग्यताओं और बिजनेस सहित प्रोफेशनल पर लगाया जाता है।

भारत में यह व्यावसायिक कर अलग-अलग राज्यों द्वारा अलग-अलग तरह से लगाए जाने वाला राज्य कर माना जा सकता है।

अधिभोग का प्रमाण पत्र 

यदि आप अपने रिटेल शॉप में एक नई संपत्ति का निर्माण कर रहे हैं या कोई नई संपत्ति खरीद रहे हैं अथवा मौजूदा संपत्ति को संशोधित कर रहे हैं, जो आप कपड़े की दुकान से संबंधित है, तो आपके लिए अधिभोग का प्रमाण पत्र आवश्यक है।

कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस बनवाने पर कितने रुपए खर्च होंगे? 

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि दुकान के लिए लाइसेंस बनवाने हेतु लगने वाला खर्च अलग-अलग प्रकार के व्यवसाय के लिए अलग-अलग हो सकता है। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप अपनी दुकान में कितने कर्मचारी रखना चाहते हैं और कपड़े की दुकान के लिए लाइसेंस कितने दिनों हेतु वैध करवाना चाहते हैं।

इन सभी बातों को ध्यान में रखकर आपको श्रम विभाग में अपने कपड़े की दुकान खोलने हेतु लाइसेंस लेने के लिए पंजीकरण शुल्क का भुगतान करना पड़ेगा, इसे आप नीचे दिए गए टेबल में देख सकते हैं।

कर्मचारियों की सख्याकितने वर्ष के लिए लाइसेंस मिलेगापंजीकरण शुल्क (रुपये में)पंजीकरण जुर्मानानवीकरण जुर्माना
0-10 कर्मचारीजीवन भर5000 रुपएपंजीकरण तिथि के 30 दिनों के बाद, 100% जुर्माना लगाया जाएगानवीनीकरण की नियत तारीख के 30 दिनों के बाद, 100% जुर्माना लगाया जाएगा
11-50 कर्मचारीजीवन भर20000 रुपए
51-100 कर्मचारीजीवन भर50000 रुपए
101 और उससे ऊपर के कर्मचारीजीवन भर150000 रुपए
अन्यशुल्क (रुपये में)मतलब
संशोधननई रेग फीस का अंतर (चयनित कर्मचारियों की संख्या के आधार पर) और पहले जमा की गई रेग फीसकर्मचारियों की संख्या में परिवर्तन।

दुकान रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

कपड़े की दुकान का रजिस्ट्रेशन करने के लिए डॉक्यूमेंट 

अगर आप अपने कपड़े की दुकान का रजिस्ट्रेशन करवाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको दुकान से संबंधित आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध कराना पड़ेगा, जो नीचे बताए गए हैं। 

आप इन डॉक्यूमेंट को ऑनलाइन पोर्टल पर ले जाकर अपलोड कर सकते हैं।

  • दुकान के मालिक की फोटो (दुकान के साथ)
  • प्रबंधन कर्मचारियों की सूची
  • दुकान की स्थापना में कार्यरत कर्मचारियों का विवरण
  • कर्मचारी साप्ताहिक अवकाश
  • दुकान की स्थापना का प्रमाण पत्र 
  • शपथ पत्र
  • आईडी प्रूफ (पैन कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस/आधार कार्ड/पासपोर्ट)

कपड़े की दुकान का रजिस्ट्रेशन कैसे करें? 

चलिए अब यह जान लेते हैं कि आप अपनी दुकान का रजिस्ट्रेशन कैसे करेंगे? इसके लिए हमने आपकी सुविधा हेतु एक वीडियो नीचे दिया है, आप इसे देख सकते हैं और आसानी से समझ सकते हैं कि कपड़े की दुकान का रजिस्ट्रेशन कैसे किया जा सकता है।

निष्कर्ष – कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस 

हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां बताई हैं और हमें उम्मीद है कि आपको इससे अपनी दुकान के लिए लाइसेंस प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

अगर आपको कपड़े की दुकान खोलने के लिए लाइसेंस प्राप्त करने में किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, अथवा आपके मन में इस विषय से संबंधित कोई प्रश्न है, तो आप हमें कमेंट करके अपने सवाल पूछ सकते हैं।

Leave a Comment