डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है? (पूरा प्रोसेस जानिए)

डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है, कलेक्टर कैसे बनते है, कलेक्टर का क्या कार्य होता है, कलेक्टर की सैलरी कितनी है, Collector Banne Ke Liye Qualification, Collector Banne Ke Liye Kitne Saal Lagte Hai आदि के बारे में जानने के लिए पढ़ें।

कई लोग जानना चाहते हैं कि डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है, इसलिए आज का यह आर्टिकल इसी टॉपिक पर होने वाला है। अगर आप इसके के बारे में पूरा जानना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

इस आर्टिकल में आपको कलेक्टर कैसे बनते हैं, कलेक्टर बनने के लिए योग्यता, कलेक्टर बनने के लिए कितने साल लगते हैं, Collector Ki Salary Kitni Hoti Hai, Collector Kya Kaam Karta Hai के बारे में भी काफी नॉलेज मिलेगा। 

डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है? (Deputy Collector Se collector Banne Me Kitna Samay Lagta Hai) 

डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है, कलेक्टर कैसे बनते है, कलेक्टर का क्या कार्य होता है, कलेक्टर की सैलरी कितनी है, Collector Banne Ke Liye Qualification, Collector Banne Ke Liye Kitne Saal Lagte Hai

कलेक्टर एक सम्मानजनक और ऊंचा पद होता है, इसलिए कलेक्टर बनने के लिए आपको कई साल तक मेहनत करनी पड़ती है। तो आइए डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है के बारे समझते हैं।

हर साल प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के पदों के लिए यूपीएससी या स्टेट पीएससी परीक्षा देनी होती है, वहीं अगर आप डिप्टी कलेक्टर बन जाते हैं, तो उसके बाद आप कलेक्टर बन सकते हैं।

आपके डिप्टी कलेक्टर बनने के बाद प्रमोशन करने पर आप कलेक्टर बन सकते हैं, आपको बता दें कि डिप्टी कलेक्टर का कलेक्टर के पद पर प्रमोशन करने में 2 साल से 3 साल का समय लगता है।

इसका अर्थ यह हुआ कि, डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में आपको 2 से 3 साल का समय लगता ही है, कभी-कभी इससे ज्यादा भी समय लग सकता है।

आसान शब्दों में समझाएं तो जब आईएएस अधिकारी को प्रमोशन के बाद डिप्टी कलेक्टर बनाया जाता है। जब डिप्टी कलेक्टर का प्रमोशन होता है तो उसे कलेक्टर बनाया जाता है। इस वजह से किसी व्यक्ति को डिप्टी कलेक्टर के पद से कलेक्टर का पद पाने के लिए 2 से 3 साल लगते हैं।

कलेक्टर बनने में कितने साल लगते है? (How Many Years To Become District Collector)

कलेक्टर बनने के लिए आपको सबसे पहले यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करनी होगी, फिर कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी एग्जाम पास करना होगा, कलेक्टर बनने के लिए ट्रेनिंग भी पूरी करनी होगी। 

यह सब करने में कई साल लगते हैं, इसलिए कलेक्टर बनने में कितने साल लगते हैं के बारे में समझना चाहिए।

आपको पता ही है कि कृपया सी एग्जाम कितना कठिन होता है और उसकी तैयारी करने में भी बहुत मेहनत लगती है। इसलिए यूपीएससी एग्जाम की तैयारी करने में लगभग 1 साल से 2 साल का समय लगता है।

कई उम्मीदवार पहले प्रयास में ही यह परीक्षा पास कर लेते हैं, लेकिन कई लोगों को बहुत ज्यादा समय लगता है। इसलिए कलेक्टर बनने में समय ज्यादा या कम लग सकता है। 

यूपीएससी परीक्षा पास करने, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, कलेक्टर के लिए ज्वाइनिंग करने में लगभग 2 साल लगते हैं। जब आप यूपीएससी एग्जाम पास कर लेते हैं, तो आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है।

आईएएस पदों के लिए ट्रेनिंग करने के लिए आपको 1 से 2 साल का समय लगेगा। इसके बाद जब आईएएस पदों पर आपको नियुक्त किया जाता है तो, उन पदों पर आपको कई साल नौकरी करनी होती है।

इन सबको मिलाकर देखा जाए तो कलेक्टर बनने के लिए 6 साल से 10 साल का समय लगता है। यह समय कम या ज्यादा भी हो सकता है तथा यह आप पर निर्भर करता है।

बेस्ट एजुकेशनल ऐप्स:

कलेक्टर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? (Collector Banne Ke Liye Qualification)

कलेक्टर बनने के लिए निर्धारित योग्यता और निर्धारित उम्र होनी चाहिए, तभी कोई व्यक्ति यूपीएससी एग्जाम देकर कलेक्टर बन सकता है। 

  • कलेक्टर की परीक्षा में आवेदन करने के लिए किसी विषय में आपका ग्रेजुएट होना बेहद आवश्यक है।
  • यह भी ध्यान रखें की ग्रेजुएशन में आपके 50% मार्क्स होने चाहिए।
  • भारत के रहने वाले यानी भारत के नागरिक ही इस परीक्षा में बैठकर कलेक्टर बन सकते है।

कलेक्टर बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए? (Collector Banne Ke Liye Age Limit)

कलेक्टर बनने के सामान्य वर्ग, ओबीसी, एससी, एसटी के उम्मीदवारों के अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की गई है। तो चलिए कलेक्टर बनने के लिए कितनी उम्र चाहिए के बारे में जानते है।

  • सामान्य वर्ग वालों के लिए कम से कम उम्र 21 साल और ज्यादा से ज्यादा 32 साल हो सकती है।
  • ओबीसी वर्ग वाले उम्मीदवार की उम्र कम से कम 21 और अधिकतम 35 साल होनी चाहिए।
  • एससी और एसटी वर्ग वाले उम्मीदवार की आयु 21 साल से 37 साल तक होनी चाहिए।
  • इसके अलावा विकलांग उम्मीदवारों को भी आयु सीमा में छूट मिलती है।

कलेक्टर कैसे बनते है? (Collector Kaise Bane In Hindi) 

कलेक्टर बनने के लिए कई सालों की मेहनत लगती है और कलेक्टर बनने की प्रक्रिया भी थोड़ी लम्बी होती है। अब Collector Kaise Bane Puri Jankari के बारे में भी जानते है।

  • कलेक्टर बनने के लिए उम्मीदवार के पास योग्यता यानी ग्रेजुएशन, निर्धारित उम्र आदि होनी चाहिए।
  • कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी परीक्षा के लिए आवेदन करें।
  • यूपीएससी परीक्षा में आवेदन करने के साथ आपको पढ़ाई भी करनी होगी।
  • कलेक्टर बनने के सबसे जरूरी यूपीएससी एग्जाम पास करना होता है, इसलिए मन लगाकर इस परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए।
  • यूपीएससी में प्रारम्भिक और मुख्य परीक्षा तथा इंटरव्यू होगा।
  • यूपीएससी एग्जाम में ज्यादा से ज्यादा अंक लाने के लिए मेहनत करे, ताकि परीक्षा में अच्छी रैंक मिले।
  • जब आप इस परीक्षा में पास हो जाएंगे तो आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा।
  • ट्रेनिंग करने के बाद आपको आईएएस ऑफिसर बना दिया जाता है, जिसके बाद आप एक कलेक्टर बन सकते है।

कलेक्टर बनने के लिए क्या पढ़ना पड़ता है? (Collector Banne Ke Liye Kya padhaai Karni Padti Hai)

कलेक्टर बनने के लिए ग्रेजुएशन चाहिए होती है, तो पहले आपको ग्रेजुएशन के विषयों की पढ़ाई करनी पड़ेगी। यूपीएससी एक्जाम पास करने के लिए आपको निम्नलिखित विषयों की पढ़ाई करनी पड़ेगी।

  • गणित
  • अंग्रेजी
  • रिजनिंग
  • इतिहास
  • भूगोल
  • राजनीतिक विज्ञान
  • सामान्य ज्ञान
  • करंट अफेयर्स
  • जनरल एप्टीट्यूड

इन सब विषयों के अलावा आपको साइंस और टेक्नोलॉजी, विज्ञान के आविष्कार आदि के बारे में भी जानकारी रखनी होगी। इन विषयों की पढ़ाई करके आप यूपीएससी एग्जाम पास कर लेंगे और कलेक्टर बन सकते हैं।

कलेक्टर की सैलरी कितनी होती है? (Collector Ki Salary Per Month)

कलेक्टर बनने के जितनी मेहनत लगती है, उतनी ही आपको अच्छी सैलरी और सुविधाएं मिलती है। कलेक्टर बनने के बाद उस व्यक्ति का जीवन अच्छा हो जाता है, इसलिए आजकल कई युवा कलेक्टर बनना चाहते हैं।

कलेक्टर बनने के बाद ही 56 हजार से 2 लाख रुपए तक हर महीने की सैलरी मिलती है। कलेक्टर को अच्छा खासा वेतन तो मिलता ही है, इसी के साथ कलेक्टर को सरकार कई सुविधाएं भी प्रदान करती है।

कलेक्टर को रहने के लिए एक शानदार बंगला, सुरक्षा के लिए गार्ड, घर में काम करने वाले नौकर आदि की सुविधा होती है। 

कलेक्टर के लिए बिजली बिल, पानी बिल, टेलीफोन बिल फ्री होता है। कलेक्टर के लिए सरकारी वाहन और ड्राइवर भी होता है, कलेक्टर के रिटायरमेंट होने पर पेंशन भी मिलती है।

कलेक्टर की सुविधाएं, अच्छी सैलरी, कलेक्टर की पावर आदि के कारण हर युवा की चाहत होती है कि वह एक आईएएस ऑफिसर बने। 

कलेक्टर का क्या काम होता है? (Collector Kya Kaam Karta Hai)

कलेक्टर को कई कार्य करने होते हैं, जैसे राजस्व के कार्य, कानून व्यवस्था से जुड़े कार्य, प्रशासनिक सेवाओं के कार्य आदि। कलेक्टर के कार्यों के बारे में जानने के लिए निम्नलिखित को पढ़ें।

  • भू राजस्व के कार्य करना।
  • भूमि सुधार के कार्यों पर ध्यान देना।
  • सरकार को हर साल अपराध रिपोर्ट तैयार करके देना।
  • वाहनों और हथियारों के लाइसेंस कलेक्टर जारी कर सकता है और उन्हें निलंबित भी कर सकता है।
  • चुनावों के समय मुख्य चुनाव अधिकारी के रूप में कार्य करना।
  • विधानसभा, लोकसभा चुनावों को सही से करवाने की जिम्मेदारी कलेक्टर की होती है।
  • जनगणना के समय जनगणना करने की व्यवस्था और पर्यवेक्षण करना।
  • नगर पालिका प्रशासन की व्यवस्था पर ध्यान देना।
  • प्राकृतिक आपदाओं के समय उस समस्या से लोगों को बचाने का काम कलेक्टर का होता है।
  • होटल के लाइसेंस, विस्फोटक और पेट्रोलियम के लाइसेंस जारी करना भी कलेक्टर के हाथ में होता है।
  • किसानों को फसलों का नुकसान अन्य हानि होने पर राहत राशि दिलवाने का कार्य करना।
  • ग्रामीण आंकड़ों और किसान कल्याण के बारे में भी जानकारी रखना कलेक्टर का कार्य होता है।

FAQs – डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है?

डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है? इसके बारे में तो आप अच्छे से समझ गए होंगे। तो आइए इस टॉपिक से जुड़े अन्य सवालों के बारे में भी जानते हैं।

#1: क्या डिप्टी कलेक्टर जिला कलेक्टर बन सकता है?

जब डिप्टी कलेक्टर का प्रमोशन किया जाता है तो उसे जिला कलेक्टर बनाया जाता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि एक डिप्टी कलेक्टर जिला कलेक्टर बन सकता है।

#2: कलेक्टर बनने के लिए कितना समय लगता है?

कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में, परीक्षा के बाद कलेक्टर की चयन प्रक्रिया में, कलेक्टर की ट्रेनिंग में कई साल का समय लगता है। 

इन सब को मिलाकर बताएं तो कलेक्टर बनने के लिए 6 से 10 साल तक का समय लग सकता है। यह समय निश्चित नहीं है, इससे कम या ज्यादा भी समय कलेक्टर बनने के लिए लग सकता हैं।

निष्कर्ष – डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है?

आज के इस आर्टिकल में डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है, इस सवाल का जवाब विस्तार में दिया है।

इसके साथ कलेक्टर बनने के लिए योग्यता, कलेक्टर कैसे बने, Collector Ki Salary आदि के बारे में भी बताया है। 

हमारा आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो आगे भी शेयर जरूर करें, ताकि वो भी डिप्टी कलेक्टर से कलेक्टर बनने में कितना समय लगता है के बारे में जान पाए।

Leave a Comment